News
'अपना घर ही बना नर्क'
'मैरिटल रेप'
भूकंप से दिन हो जाते हैं छोटे
'न्यायाधीश को भी नहीं मिला न्याय'
ओबामा ने फिर की मोदी की तारीफ, बोले...
राहुल गांधी का एयर टिकट सोशल मीडिया पर वायरल
हिंदुत्व धर्म नहीं बल्कि जीवनशैली है : मोदी
यह युवा किसान कमाता है 10 लाख, जानिए कैसे
राजस्थान: विधानसभा में आरोप-प्रत्यारोप, जमकर हंगामा
दिल जीत लेगा व्हाट्‍सएप का यह नया लुक
WORLD
सत्य नडेला को ओबामा देंगे पुरस्कार
चीनः वृद्धि दर छह साल में सबसे कम स्तर पर
जानिये, 'रॉकऑन 2' को लेकर क्यों उत्‍साहित हैं श्रद्धा कपूर
Sports
जून में बांग्लादेश का दौरा करेगी टीम इंडिया
इस उम्र में तीसरे सबसे ज्‍यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज बने हॉग
सुपर ओवर में ऐसे रुक गया RR का विजयी रथ
हमें डिविलियर्स की तरह खेलने की जरूरत है : कोहली
शोएब खुश, सानिया के साथ जश्न...
साइना नेहवाल फिर बनी विश्व नंबर एक
सौरव गांगुली होंगे भारतीय क्रिकेट टीम के नए कोच?
पोंटिंग की रणनीति मुंबई के काम आई
गेल ने बंधवाई पोलार्ड के मुंह पर पट्टी
गर्मी के कारण चेन्नई हारा : धोनी
Photos
Children
Jokes
डॉक्टर-पेशंट जोक : पच्चीस साल
Intersting
टचस्क्रीन के साथ होंडा सिटी, जानिए क्या है खास
गूगल ढूंढ़ेगा अब आपका खोया हुआ एंड्राॅयड फोन
क्या है Net Neutraility? क्यों मचा इस पर बवाल, जानें सब कुछ
डेढ़ माह फाइल दबाओ फिर हो जाएगा काम
जेनरेटर ऑपरेटर का बेटा जापान में पढ़ेगा
वर्चुअल दुनिया में कैसा भेदभाव
अक्षय तृतीया : जानिए, खरीदी के शुभ मुहूर्त व श्रेष्ठ योग
बस 5 साल और...फिर कहेंगे चल मेरे गूगल
वॉट्सऐप यूजर्स पढ़ें यह खबर, वॉट्सऐप सीईओ ने शेयर किया है कुछ नया
Career
IAS प्री पास करने पर मिलेंगे 75 हजार रुपए
एक्जाम में सफलता दिलाएंगे प्रभु श्रीराम के अचूक मंत्र
आईआईटी में खुलेगा रिवर साइंस एंड मैनेजमेंट सेंटर
Bollywood
श्रद्धा कपूर ने खोला अपने मेकअप से जुड़ा राज
मुंहासे हों या सनबर्न, गर्मियों में बहुत असरदार हैं ये उपाय
हॉलीवुड मूवी करेंगे रितिक रोशन
पीएम की राह चलीं हेमा, मथुरा को पर्यटन स्‍थल बनाएंगी
Ajab Gazab
हमें टॉप 10, 9 नुस्ख़े क्यों भाते हैं?
हमें टॉप 10, 9 नुस्ख़े क्यों भाते हैं?
इस शख्‍स को मुंहजबानी याद हैं नगर के सभी वाहनों के नंबर
Food and Cookery
रात में अच्छी नींद चाहिए तो दिन में करें यह उपाय
Poetry, Ghazal
मैं प्यासा बादल हूं
Literature
हनुमानजी से जानिए सफलता के 3 मंत्र
लघुकथा : प्यार की अठन्नी
प्रवासी कविता : नौ नक्षत्र, नौ ग्रह, नौ रस, नौ भक्ति
नहीं जानते होंगे, अकबर ने ली थी राजपूतों के बारे में यह कसम

'अपना घर ही बना नर्क'


 

 

309546

2013 में दर्ज महिलाओं के ख़िलाफ़ अपराध के मामले

 
 
 
 
 
 
 
118866घरेलू हिंसा
70739यौन उत्पीड़न
51881अपहरण
33707बलात्कार
34353अन्य अपराध

स्रोत: नेशनल क्राइम रिकॉर्ड्स ब्यूरो, भारत

 

"मेरे पति कमरे में आए. दरवाजा बंद किया. म्यूज़िक सिस्टम की आवाज़ तेज कर दी, ताकि बाहर किसी को आवाज़ सुनाई न दे. उसके बाद उन्होंने अपनी बेल्ट निकाली और मुझे पीटना शुरू किया. अगले 30 मिनट तक वह मुझे पीटते रहे."

अदिति ( बदला हुआ नाम) उन लाखों महिलाओं में शामिल हैं, जिन्हें घरेलू हिंसा का सामना करना पड़ता है.

"जब वह यह सब कर रहा था. उसने मुझे चेतावनी दी कि मैं आवाज़ न निकालूं. मैं रो नहीं सकती थी, चीख नहीं सकती थी. अगर मैं ऐसा करती थो वो मेरी और पिटाई करता. वह मुझे बेल्ट और हाथों से पीटता रहा. फिर मेरा गला घोंटने लगा. वह बहुत गुस्से में था."

अदिति उस घटना के बारे में बता रही थीं जो उनके साथ तब घटी जब वो महज 19 साल की थी. उनकी शानदार शादी के महज एक साल बाद. उसकी शादी में वर- वधू को आशीर्वाद देने के लिए दुनिया भर से नाते-रिश्तेदार आए थे.

 

This is a free BBC service. However, your operator may charge you for the amount of data you use. If you are unsure how much data costs on your tariff, please contact your network operator.

वह अपने पति से पहली बार अपने एक दोस्त के जरिए कुछ ही महीने पहले मिली थी. शुरुआत में वह "करिश्माई और दोस्ताना" लगा था लेकिन यह लंबे समय तक नहीं रहा.

अदिति ने बताया, "वह लापरवाह बन गया और मेरे साथ गाली गलौज करने लगा. मेरे पिता शराब पीते थे और मेरी मां के साथ हमेशा दुर्व्यवहार किया करते थे. ऐसे में मुझे लगा कि ये ज़िंदगी का ही हिस्सा है. मैं हमेशा सोचती रहती कि शायद कभी हालात बेहतर होंगे."

उसने मुझे आंसू भरी आँखों के साथ बताया कि हालात ख़राब होते गए.

"समय के साथ उसकी हिंसा बढ़ती गई. मैं सोचती थी कि वह जैसा कह रहा है, वैसा करने से हालात बेहतर होंगे. वह यही कहता था लेकिन ऐसा कभी हुआ नहीं. उसे मुझमें कोई न कोई ग़लती मिल जाती थी. उसका गुस्सा किसी भी बात से भड़क जाता था. उसके साथ जीवन का हर पल अनजाने डर में गुज़रता था. वह जब बाहर जाता और घर लौटता, तो मुझे मालूम नहीं होता कि वह क्या चाहता है. वह मुझे गालियाँ देता, नीचा दिखाता या फिर मुझे पीटना शुरू कर देता."

अदिति घर के नाम पर नर्क में रह रही थी लेकिन शादी के ठीक छह साल बाद अप्रैल, 2012 में वह अपने दोस्तों की मदद से घर से भागने में कामयाब हुई.

आज, वह अपने अतीत को पीछे छोड़ चुकी हैं. उन्हें एक गैर सरकारी संगठन में नौकरी मिल चुकी है और नए सिरे से जीवन शुरू कर रही हैं.

लेकिन अदिति का मामला कोई इकलौता मामला नहीं है.

दिसंबर, 2012 में दिल्ली की एक बस में 23 साल की युवती के साथ सामूहिक बलात्कार हुआ, पीड़िता की मौत हो गई. इस घटना के बाद लोगों का ध्यान भारत में होने वाले बलात्कारों की तरफ़ गया. लेकिन आंकड़े बताते हैं कि पिछले दस सालों से देश भर में महिलाओं के साथ घरेलू हिंसा के मामले सबसे ज़्यादा दर्ज होते हैं.

हर साल इन मामलों की संख्या में बढ़ोत्तरी होती है.

 

घरेलू हिंसा की दर

2003